दो चुटकी दालचीनी IMMUNE SYSTEM के लिए वरदान

दालचीनी सिर्फ मसाला नहीं, ओषधि भी

0
1854

दालचीनी, इसे मसाला कहें या औषधि या फिर और क्या? हम इसे जो भी कहें, पर यह मसाला, हमारे स्वास्थ्य के लिए कुदरत का दिया हुआ एक चमत्कार है । दो चुटकी दालचीनी के, हमारे IMMUNE SYSTEM के लिए वरदान से काम नहीं। यह हम सबों की रसोई में मौजूद है जिसे हम खानों का ज़ायका बढ़ाने के काम में लाते हैं। परन्तु, इसे बिलकुल भी नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है क्योंकि बहुत बड़ा रोगाणु रोधी प्रभाव होता है । इसके प्रभाव से जीवाणु जीवित नहीं रह सकते क्योंकि दालचीनी जीवाणुओं की कोशिका झिल्ली को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर देते हैं। यह फफूंदियों को नुकसान  पहुँचाने के साथ साथ वायरस से भी लड़ने में सक्षम है।

दो चुटकी दालचीनी IMMUNE SYSTEM के लिए वरदान
Image by Gerd Altmann from Pixabay

दालचीनी हमारे साइनस और गले में बलगम को भी साफ़ करने में सहायक है। यह सिर्फ आम सर्दी से नहीं लड़ता है बल्कि हमारे फेफड़ों के साथ-साथ स्वसन तंत्र का भी बखूबी ख़याल रख सकता है।

इसका सीधा मतलब है कि  दालचीनी हमारे शरीर के भीतर की सभी कोशिकाओं, उत्तकों, ग्रंथियों और अंगों को लम्बे समय तक स्वस्थ रखने में सक्षम है।

दो चुटकी दालचीनी IMMUNE SYSTEM के लिए वरदान
Image by DrSJS from Pixabay

हमारे शरीर को ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाए

दालचीनी में बहुत अधिक एंटीऑक्सीडेंट है जो हमारे शरीर को मुक्त कणों  से होने वाले ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाये रखने में मदद करती है। दालचीनी बहुत ही शक्तिशाली Anti-Inflammatory गुणों से भरपुर होता है जो क्षतिग्रस्त Tissue की मरम्मत करने के साथ-साथ हमारे शरीर को संक्रमण से लड़ने में सहायक होता है।

दालचीनी हमारे इम्यून सिस्टम को बूस्ट करती है

दालचीनी में Cinnamaldehyde पाया जाता है जो हमारे शरीर का स्वास्थय और Metabolism और शारीरिक सहनशक्ति को बढ़ाता है। अगर हम कहें कि दालचीनी एक बहुत ही अच्छा सौदा है तो ये बिलकुल ही गलत नहीं होगा। दालचीनी किसी भी कारणों से उत्पन्न साँसों की दुर्गन्ध और जीवाणुओं के लिए अत्यंत ही हानिकारक माना जाता है।

CLEAN YOUR MORNING BREATH

उपयोग के विभिन्न तरीक़े

अब इसको लेने के तरीकों की बात करते हैं जो कई प्रकार के हो सकते हैं। मेरा सबसे पसंदीदा तरीक़ा ये है कि एक या फिर दो चुटकी दालचीनी के पाउडर मुँह में डाल कर अपनी जीभ के मदद से दांतों के चारों तरफ घुमाना। ऐसा करने से, स्वाभाविक रूप से मुँह में लार का श्राव होगा। जो ना सिर्फ मुँह में छिपे कीटाणुओं को मार देगा बल्कि आपको मीठी और ताज़ी साँसों का एहसास भी कराएगा। अपने टूथपेस्ट पर भी दालचीनी डाल कर ब्रश कर सकते हैं या फिर इसे पानी में घोल कर इससे कुल्ला भी कर सकते हैं।

उपयोग के पसंदीदा तरीके अपनाएं

जो भी तरीका उचित लगे उसे अपनाया जा सकता है, लेकिन हमें ये सुनिश्चित करना होगा कि हम दालचीनी का  उपयोग रोज़ाना किसी न किसी तरीक़े से कर रहे हैं। ये हमारे स्वास्थय के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here